Today News

डॉक्टर से दुष्कर्म / संसद में जया ने कहा- दोषियों को पीट-पीटकर मार डाला जाए, राजनाथ बोले- हम कड़ा कानून बनाने को तैयार

Today News

दिल्ली. तेलंगाना में महिला वेटरनरी डॉक्टर से दुष्कर्म और हत्या के मामले पर सोमवार को राज्यसभा में चर्चा जारी है। समाजवादी पार्टी सांसद जया बच्चन ने कहा- मुझे लगता है यही समय है जब लोग सरकार से एक स्पष्ट जवाब चाहते हैं। सरकार को बताना चाहिए कि निर्भया और कठुआ दुष्कर्म मामले में अब तक क्या हुआ? मामले में सुरक्षा से जुड़े लोगों को जवाब देना चाहिए। उन्होंने कहा कि दुष्कर्म के दोषियों की जनता के बीच लिंचिंग होनी चाहिए। वहीं, लोकसभा में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा- इस घटना से पूरा देश शर्मसार हुआ है। इससे सभी को चोट पहुंची है। अपराधियों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए। उन्होंने कहा- ऐसी घटनाओं पर नियंत्रण पाने और खत्म करने के लिए हमें ऐसा कानून बनाना होगा जिस पर पूरा सदन सहमत हो। सरकार सख्त कानून बनाने के लिए तैयार है। इस अमानवीय हरकत से बड़ा कुछ नहीं हो सकता है।
 

जो सुरक्षा नहीं दे पा रहे उनका एक्सपोज होना जरूरी: जया

राज्यसभा से बाहर निकलने के बाद जया ने कहा, “अगर सरकार महिलाओं को सुरक्षा मुहैया नहीं करा पा रहीं, तो उन्हें जनता पर फैसला छोड़ देना चाहिए। जो सुरक्षा नहीं दे पा रहे और जो जुर्म कर रहे हैं, उनका एक्सपोज होना जरूरी है। इसके बाद जनता को उनका फैसला करने दें। 

ऐसी घटनाएं रोकने के लिए नए बिल की नहीं, पॉलिटिकल विल की जरूरत: वेंकैया

राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू ने कहा, “हमें ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए नए बिल की नहीं बल्कि राजनीतिक इच्छाशक्ति, प्रशासनिक कौशल और सोच को बदलने की जरूरत है। इसके बाद हमें इस सामाजिक बुराई को मारने के लिए आगे बढ़ना चाहिए।” 

हर तबके को साथ खड़ा होना होगा: गुलाम नबी आजाद

कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि राज्य सरकार को दोषियों से सख्ती से निपटना चाहिए। उन्होंने कहा कि केवल कानून बनाने से समस्या हल नहीं होगी। ऐसे मामले में हर तबके को खड़ा होना होगा। भाजपा की तरफ से प्रभात झा और आम आदमी पार्टी के संजय सिंह ने राज्यसभा में महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराध पर चर्चा की मांग की थी।

अपराधियों को 31 दिसंबर तक फांसी दें: अन्नाद्रमुक सांसद

अन्नाद्रमुक सांसद विजिला सत्यनाथ तेलंगाना दुष्कर्म के बारे में बोलने के दौरान रो पड़ीं। उन्होंने कहा कि देश महिलाओं और बच्चों के लिए सुरक्षित नहीं है। जिन 4 लोगों ने यह अपराध किया है, उन्हें 31 दिसंबर से पहले फांसी दी जानी चाहिए। न्याय में देरी न्याय न देने के समान है। 

अधीर रंजन चौधरी के मोदी पर दिए बयान पर हंगामा

लोकसभा में आज अधीर रंजन चौधरी के मोदी, शाह को घुसपैठिया बताने पर हंगामा हुआ। इसके चलते लोकसभा को 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया। चौधरी ने र

Follow Us On You Tube