Today News

हादसा / दोंदवाड़ा गांव में बस ने बाइक को टक्कर मारी, 2 की मौत; भीड़ ने बस फूंकते वक्त का वीडियाे बनाने वालाें के माेबाइल फाेड़े

Today News

खंडवा. छैगांव माखन से 3 किमी दूर दाेंदवाड़ा में रविवार शाम करीब 6 बजे बस की टक्कर से बाइक सवार चाची-भतीजे की माैत के बाद लाेगाें का गुस्सा फूट पड़ा। भीड़ ने इंदाैर से खंडवा की ओर आ रही बस में सवार सभी यात्रियाें काे बाहर निकाला और ताेड़फाेड़ कर बस में आग लगा दी। इस दाैरान जिसने भी वीडियाे बनाया या फाेटाे खींचने की काेशिश की, उसका माेबाइल फाेड़ दिया। हालांकि, जिनके माेबाइल फाेड़े गए, उन्हाेंने पुलिस में शिकायत नहीं की। इधर, महिला और बच्चे की मौत के मामले में पुलिस को देर रात का दुर्घटना का कारण पता नहीं चला। गांव के लोग कुछ भी बताने को तैयार नहीं है। खास बात यह है कि घायल युवक की बाइक भी पुलिस को नहीं मिली। दोंदवाड़ा में आए दिन दुर्घटना होती है जब भी हुई किसी न किसी की जान जरूर गई है। इसलिए यहां के लोग भी हादसों को लेकर काफी आक्रोशित हैं।

एफआईआर के लिए नहीं पहुंचे दोनों पक्ष
रविवार शाम दुर्घटना के बाद लोगों ने बस को जला दिया। वहीं, दो लोगों की मौत के बाद परिजन भी एफआईआर के लिए थाने नहीं पहुंचे। छैगांवमाखन थाना टीआई एमपी ओझा ने बताया कि गांव वाले इस संबंध में बात ही नहीं कर रहे हैं, लेकिन हमने बस को जब्त कर लिया है। फरार ड्राइवर के बारे में पता लगा रहे हैं। 

दोनों की गलती से हुआ हादसा
मामले की पड़ताल करने पर बस ड्राइवर व बाइक चालक दोनों की लापरवाही सामने आई है। गांव में ही सड़क निर्माण कंपनी ने 20 किमी की स्पीड से वाहन चलाने का संकेतक लगाया है, लेकिन उस पर कोई ध्यान नहीं देता। बाइक व बस ड्राइवर ने स्पीड लिमिट उल्लंघन किया है। एक बस ड्राइवर ने बताया कि बस स्टैंड पर जल्द बस लगाने के चक्कर में ड्राइवरों को एक-एक मिनट देखकर चलना पड़ता है। स्पीड लिमिट के बोर्ड अंधे मोड़, गांव की आबादी वाले मुख्य रोड या सड़क की खामियों को लेकर लगाए जाते हैं। ताकि ड्राइवर संकेतक देखकर अलर्ट हो जाए। रविवार शाम हुई दुर्घटना के समय बस की स्पीड 80 किमी की रफ्तार से थी। बस के आगे चल रही बाइक भी 50-60 की स्पीड में होगी। बाइक का अचानक संतुलन बिगड़ने से बाइक चालक अखिलेश पटेल बाइक सहित सड़क के उस पर गिर गया। जबकि उनकी पत्नी मायाबाई व तीन साल का भतीजा श्री पटेल बस के आगे गिरते ही टायर की चपेट में आ गए। दोंदवाड़ा में सड़क पर लेयर भी है, जिससे बाइक व छोटे वाहनों का संतुलन अचानक बिगड़ता है।

पहले भी हो चुकी तोड़फोड़ और आगजनी
दोंदवाड़ा में पूर्व में हुई दुर्घटनाओं से आक्रोशित ग्रामीणों ने तोड़फोड़, आगजनी की है। वीडियो व फोटो देखने के बाद पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर गिरफ्तारी की थी। इस बार घटनास्थल पर किसी का मोबाइल नहीं चला। अब पुलिस भी परेशान है कि वह किसे आरोपी बनाए। क्याोंकि इस मामले में कोई भी ग्रामीण मुंह खोलने को तैयार नहीं है।

Follow Us On You Tube