बिलासपुर

कार्रवाई / वकील ने शातिर चोरों के साथ मिलकर रची थी रिटायर्ड थानेदार के घर चोरी की साजिश, तीन गिरफ्तार ​

बिलासपुर

बिलासपुर. छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में रिटायर्ड थानेदार के मकान में हुई चोरी के मामले में पुलिस ने शनिवार को एक वकील सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। वकील ने ही शातिर चोरोंे के साथ मिलकर रिटायर्ड टीआई के घर में चोरी की साजिश रची थी। पूछताछ में आराेपियों ने वारदात की बात कबूल ली है। पकड़े गए आरोपियों से पुलिस ने नगदी सहित करीब डेढ़ लाख रुपए की ज्वेलरी और मोबाइल जब्त किया है। फिलहाल मामले में शामिल एक और आरोपी अभी फरार है। 

एक ही कॉलोनी में रहने हैं वकील और रिटायर्ड टीआई, वकील को थी मोटा माल मिलने की उम्मी

दरअसल, सकरी क्षेत्र के उसलापुर स्थित आसमां सिटी निवासी रिटायर्ड टीआई एससी शुक्ला परिवार सहित रामेश्वरम गए हुए थे। इससे पहले उनको दिल्ली जाना था। अभी वे दिल्ली पहुंचे ही थे कि 23 नवंबर की सुबह उन्हें घर में चोरी की वारदात का पता चला। सीसीटीवी फुटेज देखने पर पता चला कि कंबल लपेट कर मकान में घुसे चोरों ने ताला तोड़कर करीब 4 लाख रुपए के गहने और नगदी ले गए थे। घटना के बाद से लगातार पुलिस सीसीटीवी फुटेज की जांच कर रही थी। 

फुटेज के आधार पर ही पुलिस ने टिकरापारा निवासी राजेश को पकड़कर पूछताछ की तो पूरे मामले का खुलासा हो गया। उसकी निशानदेही पर पुलिस ने आरोपी वकील सतीश सिंह ठाकुर और केशव यादव को गिरफ्तार किया। जबकि एक अन्य आरोपी दयालबंद निवासी संजय खरे अभी भी फरार है। पूछताछ में सामने आया कि आसमां सिटी में ही रहने वाले अधिवक्ता सतीश सिंह ठाकुर ने ही रिटायर्ड चोरी की साजिश रची थी। वकील सतीश सिंह को उम्मीद थी कि उसे पूर्व अधिकारी के मकान से मोटा माल मिलेगा।