भोपाल

मुख्यमंत्री श्री Shivraj Singh Chouhan ने बड़ौदा अहीर में 'क्रांति सूर्य गौरव कलश यात्रा' के रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। कलश यात्रा के रथ में जनजातीय संस्कृति की झलक दिखाई दे रही। 

भोपाल

मुख्यमंत्री श्री Shivraj Singh Chouhan ने बड़ौदा अहीर में 'क्रांति सूर्य गौरव कलश यात्रा' के रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। कलश यात्रा के रथ में जनजातीय संस्कृति की झलक दिखाई दे रही। 

कलश यात्रा के खुले रथ पर पारंपरिक जनजातीय भेषभूषा में जनजातीय नृत्य की प्रस्तुति कलाकारों द्वारा दी जाएगी। कलश यात्रा में जनजातीय समूह के लोग बड़ी संख्या में वाहनों के साथ चल रहे हैं। 

27 नवम्बर को ही रतलाम ज़िले के बाजना से भी एक कलश यात्रा निकलेगी। इन गौरव कलश यात्राओं का मिलन 3 दिसंबर को धार में होगा, जहां से यात्रा इन्दौर आएगी। इंदौर में यह यात्रा राजबाड़ा से होते हुए 4 दिसंबर की सुबह पातालपानी की माटी में विराम पाएगी। 

एक कलश यात्रा महाकौशल अंचल में जबलपुर से उस धरा की पावन माटी को लेकर भी आएगी, जहां फिरंगियों ने जननायक टंट्या मामा को फाँसी दी थी।