ग्वालियर

मध्य प्रदेश / कॉपी में एक से अधिक राइटिंग मिलीं तो रिजल्ट रुकेगा, शिक्षक होंगे 5 साल के लिए ब्लैक लिस्टेड

ग्वालियर

ग्वालियर। नकल को लेकर इस बार भी हाईस्कूल व हायर सेकंडरी परीक्षाओं के दौरान सख्ती रहेगी। बोर्ड ने कहा है कि यदि किसी छात्र की कॉपी में एक से अधिक राइटिंग मिलेंगी तो उसका पूरा रिजल्ट रोक दिया जाएगा। इस केंद्र पर तैनात शिक्षकों को भी अगले पांच साल के लिए परीक्षा से दूर रखा जाएगा। नकल रोकने के लिए ही बोर्ड ने इस बार 92 में से 47 केंद्रों पर विशेष निगरानी की व्यवस्था की है। उल्लेखनीय है कि इस बार इन दोनों परीक्षाओं में जिले के 56 हजार 491 छात्रों ने फार्म भरे हैं।

बोर्ड परीक्षाओं के लिए पेपर सहित अन्य सामग्री 17 फरवरी को पद्मा स्कूल पहुंचेगी। इसके बाद इसे 9 दिन अर्थात 26 फरवरी तक यहीं पर पुलिस के पहरे में रखा जाएगा। उक्त सामग्री का सभी 92 केंद्रों से जुड़े 519 स्कूलों के छात्रों के लिए वितरण 26 फरवरी से प्रारंभ हो जाएगा। पहले दिन ग्रामीण क्षेत्र के केंद्रों को सामग्री का वितरण होगा।

इस बार रहेगी अधिक सख्ती: यह पहला मौका है जबकि सभी 92 केंद्रों पर मुख्य परीक्षा के दौरान खास निगरानी की जाएगी। बोर्ड के संभागीय अधिकारी आरपी बरेहिया ने कहा कि 47 केंद्र संवेदनशील, अति संवेदनशील हैं। यहां पर पुलिस फोर्स और वीडियो कैमरों की निगरानी रहेगी। तीन स्तर पर नकल रोकने के लिए उड़न दस्ते भी तैयार हो रहे हैं।

नकल रोकने इस बार अधिक सख्ती

  • कॉपी लेकर भागने, फाड़ने या फिर नकल फार्म पर हस्ताक्षर न करने पर सिर्फ उसी दिन की परीक्षा निरस्त की जाएगी। बाकी विषयों का रिजल्ट बोर्ड घोषित कर देगा।
  • किसी छात्र को यदि एक से अधिक बार नकल करते पकड़ा जाता है तो उसकी सभी विषयों की परीक्षा निरस्त होगी। ऐसे में कॉपी का मूल्यांकन बोर्ड की टीम नहीं करेगी।
  • उड़नदस्ते को यदि सामूहिक नकल जैसी स्थिति मिलेगी तो पूरे केंद्र की परीक्षा निरस्त होंगी। ऐसी स्थिति में उस केंद्र पर तैनात शिक्षकों को ब्लैक लिस्ट में डाला जाएगा।
  • किसी केंद्र की 10 कॉपियों में एक समान उत्तर होने, क्रम बदलकर लिखने के बाद भी उसे सामूहिक नकल की श्रेणी में रखा जाएगा। इसे मामलों में शिक्षक भी दोषी होंगे।