जबलपुर

ओरछा / आज दूल्हा बनेंगे श्रीरामराजा सरकार, मंडप और पंगत में आए 50 हजार से ज्यादा लोग

जबलपुर

ओरछा। ओरछा में श्री रामराजा के विवाहोत्सव का जश्न धूमधाम से मनाया जा रहा है। पंगत में बुंदेलखंड के अलावा कई जिलों से आए लोग शामिल हुए। बुंदेलखंड की अयोध्या के नाम से विख्यात ओरछा में रविवार को श्रीराम राजा सरकार दूल्हा बनकर निकलेंगे। प्रशासन के साथ नगर कीं जनता ने भी ऐसी तैयारियां की है जैसे मानों परिवार में शादी का जश्न मनाया जा रहा हो। पंगत में कैबिनेट मंत्री बृजेंद्र सिंह राठौर भी शामिल हुए।

प्रशासन के अनुसार एक दिसंबर को श्रीराम विवाहोत्सव में देश-विदेश से आए करीब 50 हजार लोगों के शामिल होने की उम्मीद है। नगर में द्वार-द्वार पर मंगल गायन के साथ सरकार का आज तिलक किया जाएगा। शनिवार को कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह ने अपनी पत्नी के साथ मंडपाच्छादन कर विधि पूर्वक पूजन किया। श्रीरामराजा मंदिर धर्मशाला में आयोजित मंडप पंगत में करीब पचास हजार लोगों ने शामिल होकर प्रसाद ग्रहण किया। इस पावन महोत्सव की मंगल बेला पर धार्मिक नगरी ओरछा को दुल्हन की तरह सजाया गया है, जगह-जगह तोरण द्वार बनाए गए हैं।

श्री रामराजा सरकार के विवाहोत्सव में शनिवार को दिन में तीन बजे यजमान के रूप में कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह से मंदिर के प्रधान पुजारी रमाकांत शरण महाराज व मंदिर के पुरोहित पंडित वीरेंद्र बिदुआ द्वारा वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ विधिवत मंडपाच्छादन पूजन करवाया गया। मीरा राठौर और उनके बेटे नितेन्द्र सिंह ने खंभ स्थापन किया।

कार्यक्रम में टीकमगढ़ कलेक्टर सौरभ कुमार सुमन भी शामिल हुए। इसके बाद शाम 4 बजे से श्रीराम जानकी विवाह के प्रीतिभोज का आयोजन स्थानीय रामराजा धर्मशाला में किया गया। इस विशाल भंडारे में बुंदेलखंड के अलावा देश विदेश से आए करीब 50 हजार लोग शामिल हुए। पंगति में शासकीय उमावि ओरछा के प्राचार्य एसके व्यास के निर्देशन में नगर के युवाओं व स्कूली छात्रों का सराहनीय सहयोग रहा।

आज ठाठ-बाट से निकलेगी बारात
रविवार को रात 8 बजे घोड़े हाथी ढोल नगाड़े, गाजे-बाजों और राजशी ठाठ-बाट के साथ श्री रामराजा सरकार की बारात राजशी वैभव के साथ निकलेगी। वरयात्रा के मंदिर से निकलते ही सशस्त्र पुलिस बल द्वारा दूल्हा बने राजा राम को गॉर्ड ऑफ ऑनर दिया जाएगा। इसके बाद ही श्रीराम अपने छोटे भाई लक्ष्मण के संग पालकी में विराजमान होकर नगर के प्रमुख प्राचीन मार्गों पर लोगों को दर्शन देते नगर के मुख्य चौराहे पर स्थित जनक भवन मंदिर पहुंचेंगे।


विवाहोत्सव के दौरान नगर के चप्पे चप्पे पर जवानों के साथ सीसीटीवी लगेंगे। कई जिलों से भी पुलिस बल बुलाया गया है। नगर निरीक्षक नरेंद्र त्रिपाठी कार्यक्रम की सुरक्षा व्यवस्था की पूरी जानकारी से पुलिस अधीक्षक मुकेश श्रीवास्तव अवगत करवाया जा रहा है। महोत्सव के दौरान बेतवा नदी किनारे सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर गोताखोर तैनात किए गए हैं।


जनक मंदिर के पुजारी करेंगे बारात की अगवानी
बारात में राजशी प्रतीक चिन्ह पंखा, तिकोना, छड़ी मशाल आदि सरकार की पालकी के साथ चलेंगे। वरयात्रा में धर्मध्वज बैंडबाजे विद्युत सजावट के साथ धार्मिक कीर्तन मंडली और आसपास के कई गांवों से आई रामधुन मंडलियां शामिल होंगी। नगर के हर द्वार पर दूल्हा बने राजाराम का पारंपरिक बुन्देली वैवाहिक मंगल गीत गायन करते तिलक होेगा। इस पवन बेला पर नगर में जगह जगह तोरण द्वार व मंगल कलश सजाकर बारात पर पुष्प वर्षा होगी।

बारात रामराजा मंदिर से नझाई मोहल्ला, पावर हाउस, शास्त्री नगर, गणेश दरवाजा होती हुई नगर के मुख्य चौराहे पर स्थित जनक मंदिर पहुंचेगी। जहां मंदिर के पुजारी हरीश दुबे राजा जनक के रूप में दूल्हा श्रीरामराजा सरकार का टीका कर बारात की अगवानी करेंगे। इसके बाद वैदिक रीती अनुसार विवाह की सभी रस्में होंगी। श्री रामविवाह उत्सव पर रात में मंदिर के बाहर प्रांगण में श्रीरामराजा सेवा दल के संयोजन में देश के चुनिंदा ख्याति प्राप्त कलाकारों द्वारा धनुष यज्ञ लीला का मंचन की जाएगा। शनिवार को कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह ने अपनी पत्नी के साथ मंडपाच्छादन कर विधि पूर्वक पूजन किया।