भोपाल

मुख्यमंत्री श्री Shivraj Singh Chouhan की अध्यक्षता में मंत्रालय वल्लभ भवन में हुई कैबिनेट की बैठक में कई अहम प्रस्तावों को मंजूरी दी गई।

भोपाल

मुख्यमंत्री श्री Shivraj Singh Chouhan की अध्यक्षता में मंत्रालय वल्लभ भवन में हुई कैबिनेट की बैठक में कई अहम प्रस्तावों को मंजूरी दी गई। कैबिनेट बैठक में नवीन चिकित्सा महाविद्यालय बुदनी को सैद्धांतिक मंजूरी दी गई, साथ ही नवीन चिकित्सा महाविद्यालय उज्जैन के अंदर प्रशासकीय स्वीकृति दी है। गृह मंत्री Dr. Narottam Mishra ने बैठक में हुए निर्णय की जानकारी देते हुए कहा कि प्रदेश के 23 और विकासखंड़ों में नवीन आईटीआई खोलना कैबिनेट में तय हुआ है। प्रदेश के 52 जिलों के 213 विकासखंड़ों में 238 शासकीय आईटीआई संचालित हैं। जिनमें प्रवेश क्षमता 44 हजार 552 अभ्यर्थियों की है। कैबिनेट ने भोपाल में नेशनल फॉरेंसिक साइंस यूनिवर्सिटी गांधीनगर के लिए जमीन के आवंटन के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी है। गृह मंत्री डॉ. मिश्रा ने कहा नेशनल फॉरेंसिक यूनिवर्सिटी केंद्र सरकार के द्वारा दी गई है जिसे मुख्यमंत्रीजी ने निःशुल्क जमीन देकर इस महत्वकांक्षी योजना को मूर्त रूप दिया है।

कैबिनेट में अहम प्रस्तावों पर सहमति

-23 विकासखंड़ों में नवीन आईटीआई खोलने पर सहमति
- बुदनी और उज्जैन में मेडिकल कॉलेज खोलने पर सहमति
-भोपाल में नेशनल फॉरेंसिक साइंस यूनिवर्सिटी गांधीनगर को निःशुल्क जमीन आंवटन
-राज्य सांख्यिकी आयोग के गठन को स्वीकृति 
-छीता खुदरी मध्यम सिंचाई परियोजना पुनरीक्षित लागत के लिए 310.3 करोड़ रु. स्वीकृत 
-कुंडलिया वृहद सिंचाई परियोजना के लिए 3 हजार 4 सौ 48 करोड़ रु  स्वीकृति 
-रूरल टेक्नोलॉजी पार्क मुरैना के लिए नवीन पदों की स्थापना 
-ओंकारेश्वर सौर ऊर्जा पार्क के टैरिफ का अनुमोदन   
-मुख्यमंत्री स्वेच्छानुदान की राशि 150 करोड़ रु.से बढ़ाकर 200 करोड़ रु. होगी
-विधायकों का स्वेच्छानुदान 15 लाख रु. से बढ़ाकर 50 लाख रु. वार्षिक 
-विधायक विकास निधि एक करोड़ 85 लाख रु. से बढ़ाकर ढाई करोड़ रु. 
-तेंदूपत्ता श्रमिकों का पारिश्रमिक ढाई हजार रु. से तीन हजार रु. प्रति मानक बोरा