राजगढ़

समीक्षा बैठक में दिए निर्देश, उच्च जोखिम समूह के व्यक्तियों को ऑन साईट रजिस्ट्रेशन के आधार पर, अगले तीन दिवस में कोविड़-19 टीकाकरण किया जाए  :-कलेक्टर श्री सिंह

राजगढ़

 

राजगढ़ 08 जून,2021

जिले के समस्त नगरीय क्षेत्रों में कोविड़-19 महामारी की रोकथाम हेतु संभावित उच्च जोखिम समूह के व्यक्तियों को ऑन साईट रजिस्ट्रेशन के आधार पर अगले तीन दिवस में कोविड़-19 टीकाकरण किया जाएगा। संभावित उच्च जोखिम समूह में उचित मूल्य दुकानों के विक्रेता, सेलेण्डर सप्लाई करने वाले, पेट्रोल पम्प स्टॉफ, घर के काम वाली महिलायें, किराना दुकान व्यापारी, सब्जी व गल्ला मण्डी के विक्रेता, हाथठेला वाले, दुधवाले, वाहन चालक, साईट मजदूर, मॉल, होटल व रेस्टोरेंट में कार्यरत स्टॉफ, शिक्षक, केमिस्ट, बैंकर्स, सुरक्षागार्ड, इत्यादि शामिल है,  का कोविड़-19 टीकाकरण कराया जाना सुनिष्चित करने के निर्देश कलेक्टर श्री नीरज कुमार सिंह ने जिले के समस्त अनुविभागीय अधिकारी राजस्व एवं विकासखण्ड चिकित्सा अधिकारीयों को दिए है। इसके साथ ही राजगढ़ शहर में लक्षित व्यक्तियों के इसी सप्ताह शतप्रतिशत वैक्सिनेशन की तैयारी भी करने के निर्देश कोविड़-19 की प्रतिदिन आयोजित समीक्षा बैठक में उन्होने दिए। 

उन्होने निर्देशित किया कि उच्च जोखिम समूह के व्यक्तियों को सूचीबद्ध किया जाए तथा इन्हे प्राथमिकता में रखें। साथ ही उन्होने 12 वर्ष से कम उम्र के बच्चे के माता-पिता को भी कोविड़-19 टीकाकरण में प्राथमिकता देने ताकि, बच्चे के कोरोना संक्रमित होने पर माता-पिता संक्रमित नही हो तथा सुरक्षित रहकर अपने बच्चे की देखभाल कर सकें। इस हेतु उन्होने क्षेत्रीय संकट समूह की बैठक बुलाने तथा वार्ड प्रभारी, शासकीय सेवकों, संकट समूह के सदस्यों, समाज सेवियों को समाज सेवियों एवं महिला नेत्रियों को जोड़ने, टीकाकरण हेतु महिलाओं को प्रेरित करने तथा शत प्रतिषत वैक्सिनेशन हेतु पीले चावल एवं निमंत्रण पत्र सहित लक्षितों को टीकाकरण हेतु टीकाकरण केन्द्रों में आमंत्रित करने एवं टीकाकरण कराने की गतिविधियां आयोजित करने के निर्देश भी दिए। 

व्यापारियों को लगानी होगी 

‘‘मैंने वैक्सिनेशन कराया अपनी-अपनी दुकानों पर क्या आपने कराया‘‘ कि तख्ती

 

आयोजित समीक्षा बैठक में कलेक्टर श्री सिंह ने निर्देशित किया कि नगरीय क्षेत्रों के बाजारों के दुकानदारों-व्यवसायियों को अपने-अपने प्रतिष्ठान दुकानों में बड़े अक्षरों में ‘‘मैंने वैक्सिनेशन कराया-क्या आपने कराया है‘‘, को तख्ती में लिखकर पारदर्शि करना होगा। ताकि क्रेता सुरक्षित रहकर खरीदारी कर सके। इसी प्रकार उन्होने आशा व्यक्त की कि उपभोक्ता भी उन्ही दुकानों-प्रतिष्ठानों से अपनी आवष्यकता की सामग्री और राषन आदि खरीदेंगे जिससे वे कोरोना वायरस से संक्रमित नही हों। वे सुरक्षित रहेंगे तो उनके परिजन भी कोरोना से सुरक्षित रहेंगे। उन्होने जिले के समस्त अनुविभागीय अधिकारियों को उक्त गतिविधि तत्काल प्रारंभ करने और शतप्रतिशत कोरोना टीकाकरण के लिए वातावरण निर्माण करने निर्देशित किया।

समाज प्रमुखों की बैठक आयोजित कर सुझाए गए

स्थल पर टीकाकरण केन्द्र बनाने दिए निर्देश

 

कलेक्टर श्री सिंह द्वारा जिले के समस्त अनुविभागीय अधिकारियों राजस्व को निर्देशित किया कि जिले में शतप्रतिशत कोविड़-19 टीकाकरण के लक्ष्यों को प्राप्त करने वे विभिन्न समाज प्रमुखों की बैठक बुलाएं। सभी से उनके प्रभाव का इस्तेमाल करने और अपने-अपने सामाजिक बन्धुओं को कोरोना वैक्सिनेशन हेतु प्रेरित करने तथा उनके सुझाए गए। धर्मशाला, सामुदायिक भवन या अन्य स्थल पर अधिकतम लक्षित व्यक्तियों के टीकाकरण हेतु वैक्सिनेशन साईट स्थापित करने एवं टीकाकरण कराए जाने की समझाईश भी उन्होने दी।

कोरोना संक्रमण के फैलाव वाले क्षेत्र बड़े ग्रामों के

टीकाकरण पर दें विशेष ध्यान 

 

समीक्षा बैठक में उन्होने अनुविभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया कि जिले के 4-5 हजार की आबादी वाले ऐसे ग्राम जहां के व्यवसायी व्यवसाय के उद्देष्य से बड़े शहरों में जाते है, के कोरोना संक्रमित होने की संभावना ज्यादा रहती है और छोटे ग्रामीण अंचलों से खरीदी करने आने वाले व्यक्तियों के कोरोना संक्रमित होने का खतरा बढ़ता हैं। उन्होने ऐसे बड़े ग्रामों में टीकाकरण पर विशेष ध्यान देने और शतप्रतिशत टीकाकरण कराए जाने कार्य योजना बनाने के निर्देष दिए। 

इस अवसर पर उन्होने मुख्य चिकित्सा एवं जिला स्वास्थ्य अधिकारी को कोविड़-19 टीकाकरण के उपरांत फॉलोअप लेने के उद्देष्य से आकस्मिक तौर पर 100 लोगों का सर्वे कराने हेतु प्रपत्र तैयार करने के निर्देष दिए। उन्होने कहा कि उक्त सर्वे के परिणाम लोगों को बताया जाकर टीकाकरण के लिए प्रेरित किया जाए। 

इस अवसर पर उन्होने मुख्य नगर पालिका अधिकारियों को नगरीय क्षेत्रों में वर्षा ऋतु में वृक्षारोपण कराने तथा राजस्व के बकायादारों से वसूली हेतु आवष्यक कार्रवाईयां सुनिष्चित करने के निर्देशित किया।