भोपाल

बिरसिंहपुर / मोबाइल टॉर्च की रोशनी में कर दी महिलाओं की नसबंदी, सीएमएचओ ने दिए जांच के आदेश

भोपाल

सतना. प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बिरसिंहपुर में शनिवार को मोबाइल टॉर्च की रोशनी में महिलाओं के नसबंदी   ऑपरेशन करने का मामला सामने आया है। सीएमएचओ डाॅ. एके अवधिया ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं। सीएमएचओ ने बताया कि आॅपरेशन के दौरान सतत बिजली आपूर्ति के लिए कैंप में जनरेटर की व्यवस्था के निर्देश दिए गए थे। उन्होंने माना कि जनरेटर नहीं होने के कारण यह दुर्भाग्यपूर्ण स्थिति बनी। विशेषज्ञ चिकित्सकों के मुताबिक एलटीटी ऑपरेशन के दौरान लेप्रोस्कोप की मदद से रिंग लगाई जाती है। रिंग लग जाने के बाद लेप्रोस्कोप निकाल कर टांके लगाए जाते हैं। ऐसे बारीक काम मोबाइल की टार्च के सहारे किए जाना महिलाओं के लिए जोखिमपूर्ण भी हो सकता है। 

कैंप में बिस्तर तक नहीं, दरी बिछाकर किए ऑपरेशन
बिरसिंहपुर में शनिवार को कैंप में 37 महिलाएं आई थीं। ऑपरेशन दोपहर 4 बजे से शुरू किए गए। महिलाओं के लिए बिस्तर तक नहीं थे। जमीन पर दरी बिछाकर ऑपरेशन किए गए। हालांकि कैंप में पहुंचे जिला अस्पताल के सर्जन डाॅॅ. देवेंद्र सिंह ने बताया कि शाम सवा 6 बजे बिजली महज 5 मिनट के लिए गई थी, इसी बीच मोबाइल की टार्च का उपयोग किया गया।