भोपाल

मुख्यमंत्री श्री Shivraj Singh Chouhan ने प्रदेश के नागरिकों से की अपील, प्रतिबंध हटने के बाद भी कोरोना से बचाव की सावधानियाँ नहीं छोड़ना है --- सभी के लिए अनिवार्य है वैक्सीन की दोनों डोज़ ।

भोपाल

 

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना से जुड़े अनेक प्रतिबंध हटा दिए गए हैं। इसके बाद भी हम सभी को अभी भी पूरी सावधानियाँ बरतते हुए कोरोना अनुकूल व्यवहार पर ध्यान देना है। हर व्यक्ति को कोरोना से बचाव की वैक्सीन का दूसरा डोज़ अवश्य लगवाना है। दिसम्बर माह तक दोनों डोज़ के वैक्सीनेशन की शत-प्रतिशत उपलब्धि हासिल करना है। प्रदेश में अभी तक 92 प्रतिशत लोगों ने वैक्सीन का प्रथम डोज और 50 प्रतिशत ने द्वितीय डोज़ लगवाया है। वैक्सीनेशन महाअभियान को सफल बनाने के लिए सभी को जुटना है। इस महीने की 24 तारीख और आगामी 1 दिसम्बर को वैक्सीन से शेष रह गए सभी लोग महाअभियान में टीकाकरण करवाकर स्वयं की सुरक्षा सुनिश्चित करें।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज प्रदेशवासियों के नाम संदेश में कहा कि कोरोना नियंत्रण के लिए पूर्व में लागू किये गये प्रतिबंधों को 17 नवम्बर 2021 से हटा दिया गया है। प्रतिबंधों से अनेक लोगों की आजीविका प्रभावित हो रही थी।

जब बैण्ड पार्टी के सदस्य ने व्यथा बताई

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बुरहानपुर यात्रा का उदाहरण देते हुए कहा कि उन्हें बैण्ड पार्टी में कार्य करने वाले एक ग्रामीण भाई श्री ठाकुर दास ने अपनी रोजी-रोटी की वेदना से अवगत करवाया था। मेलों और बाजारों में अपनी दुकान लगाने वाले छोटे-छोटे व्यापारियों का भी यही कष्ट था। सभी का आग्रह था कि अब प्रतिबंध समाप्त होना चाहिए। प्रदेश में कोविड संक्रमण पूरी तरह नियंत्रित है। आज कोरोना के 7 पॉजीटिव प्रकरण आए हैं, एक्टिव प्रकरणों की संख्या भी 79 है। प्रदेश के 47 जिलों में कोई प्रकरण नहीं है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि इन सब तथ्यों पर विचार-विमर्श के पश्चात प्रतिबंध समाप्त करने का फैसला लिया गया है।

जरूरी है सावधानी

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना पर नियंत्रण की स्थिति के बावजूद हम सभी को सावधान रहना है। यूरोप के कुछ देशों में संक्रमण के समाचार मिलते हैं। हम असावधान हुए तो ऐसा न हो कि हमें फिर प्रतिबंध लगाने पड़े। यह कोई भी नहीं चाहता कि संक्रमण फैले और प्रतिबंध लगे। हमें विवाह और अपनी अन्य परम्पराओं का पालन पूरी सावधानी के साथ करना है।

मास्क का उपयोग न छोड़े, हाथ स्वच्छ रखें

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति को मास्क का उपयोग करते रहना है। परस्पर दूरी बनाए रखें। हाथों को स्वच्छ रखना है। साथ ही स्वास्थ्य विभाग और संबंधित अमले को प्रतिदिन 70-75 हजार टेस्ट करने हैं, जिससे संक्रमण का पता चलने पर आवश्यक प्रबंध किये जा सके। कोरोना टेस्ट करवाने में कोई दिक्कत महसूस नहीं करना चाहिए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि वे स्वयं प्रति सप्ताह यह टेस्ट करवाते हैं।

वैक्सीन का दूसरा डोज़ लगवाएँ सभी

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अपील में कहा कि समस्त नागरिकों को कोरोना से बचाव के लिए वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाना है। शासकीय लोगों के लिए तो यह अनिवार्य है ही, अन्य सभी के लिए भी अतिआवश्यक है। शिक्षक, विद्यार्थी और 18 वर्ष से ऊपर के सभी युवक-युवतियाँ वैक्सीन डोज़ लगवाने में पीछे न रहे। इससे जीवन सुरक्षित हो जाता है। हम सामान्य जीवन तभी जी सकेंगे, जब पूरी सावधानियों का पालन कर कोरोना पर हुए नियंत्रण को स्थाई बना पाएंगे।