none

अंडर-19 वर्ल्ड कप / पूर्व कप्तान कपिल और अजहरुद्दीन ने कहा- बीसीसीआई बदसलूकी करने वाले भारतीय खिलाड़ियों पर सख्त कार्रवाई करे

none

खेल डेस्क. पूर्व भारतीय कप्तान कपिल देव और मोहम्मद अजहरुद्दीन ने बीसीसीआई से मांग की है कि वह अंडर-19 वर्ल्ड कप के फाइनल में बांग्लादेशी खिलाड़ियों से बुरा बर्ताव करने वाली भारतीय टीम के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करे। 

कपिल देव ने अंग्रेजी अखबार से कहा, ‘‘मैं बीसीसीआई को खिलाड़ियों के खिलाफ कड़ा कदम उठाते देखना चाहूंगा। क्रिकेट विरोधी खिलाड़ियों को गाली देने भर का खेल नहीं है। मुझे लगता है कि बोर्ड के इस इन खिलाड़ियों पर कड़ी कार्रवाई करने की वजह है। मैं खेल में जुनून और आक्रामता का स्वागत करता हूं। इसमें कुछ भी गलत नहीं है। लेकिन यह नियंत्रित होना चाहिए। आप मर्यादा नहीं लांघ सकते। मैदान पर खिलाड़ियों का ऐसा व्यवहार किसी भी सूरत में स्वीकार नहीं किया जा सकता।’’ 

अजहरुद्दीन ने पूछा- सपोर्ट स्टाफ क्या कर रहा था ?
पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन ने भी इस विवाद को गलत ठहराया है। उन्होंने कहा, ‘‘मैं मैदान पर बुरा बर्ताव दिखाने वाले अंडर-19 टीम के खिलाड़ियों पर जरूर कार्रवाई करता। लेकिन मैं यह जानना चाहता हूं कि आखिर सपोर्ट स्टाफ ऐसे युवा खिलाड़ियों को जागरूक करने के लिए क्या कदम उठा रहा है। इससे पहले कि देर हो जाए, अभी सख्त कदम उठाने की जरूरत है। खिलाड़ियों को हर हाल में अनुशासित होना चाहिए।’’

मैदान पर बुरे बर्ताव के लिए बहाना नहीं बना सकते : बिशन सिंह बेदी

इससे पहले पूर्व भारतीय क्रिकेटर बिशन सिंह बेदी ने भी कहा था, ‘‘आप खराब गेंदबाजी, बल्लेबाजी और फील्डिंग कर सकते हैं। लेकिन मैदान पर बुरे बर्ताव के लिए कोई बहाना नहीं बना सकते। बांग्लादेश के खिलाफ फाइनल में भारतीय टीम का व्यवहार शर्मनाक था। खिलाड़ियों के चेहरे पर उम्र की मासूमियत कहीं नजर ही नहीं आई।’’

भारत-बांग्लादेश के खिलाड़ियों के बीच झड़प हुई थी
भारत-बांग्लादेश के बीच रविवार को दक्षिण अफ्रीका के पोश्चफेस्ट्रूम में अंडर-19 वर्ल्ड कप का फाइनल खेला गया था। बांग्लादेश ने भारत को 3 विकेट से हराकर खिताब जीता। हालांकि, मैच खत्म होने के बाद बांग्लादेशी प्लेयर भारतीय खिलाड़ियों से भिड़ गए थे। इसका वीडियो भी सामने आया था, जिसमें बांग्लादेशी खिलाड़ी पिच के पास पहुंचे और भारतीय खिलाड़ियों के बीच घुसकर जश्न मनाने लगे। इस दौरान एक बांग्लादेशी प्लेयर भारतीय खिलाड़ियों के सामने खड़ा हो गया और अपशब्द कहने लगा। इसके बाद दोनों टीमों के खिलाड़ियों के बीच हाथापाई तक हो गई। कोच और सपोर्ट स्टाफ के बीच-बचाव के बाद मामला शांत हुआ था। 

आईसीसी ने बांग्लादेश के 3 और भारत के दो खिलाड़ियों पर कार्रवाई की
अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने बांग्लादेश के 3 और भारत के दो खिलाड़ियों को इस विवाद के लिए दोषी पाया। आईसीसी ने बांग्लादेश के तौहीद, शमीम हुसैन और रकीबुल हसन को कोड ऑफ कंडक्ट के लेवल-3 को तोड़ने का दोषी पाया। इन तीनों को 6 डिमेरिट पॉइंट दिए गए। वहीं, भारत के आकाश सिंह और रवि बिश्नोई को भी आईसीसी के कोड ऑफ कंडक्ट का दोषी पाया गया था।