राजगढ़

जिले में अवैध शराब धरपकड़ अभियान के तहत कार्यवाही जारी,             देहात ब्यावरा पुलिस टीम ने दबिश देकर 4800  रुपए कीमती 80 लीटर कच्ची शराब एवं एक मोटर सायकल कीमती 50000 रुपये कुल कीमती 54800 का मशरुका किया जप्त।

राजगढ़

 

थाना देहात ब्यावरा, जिला राजगढ़

            

                        अवैध शराब के विरुद्ध कार्रवाई करते हुए जिला में अवैध शराब बिक्री पर अंकुश लगाने के लिए कड़े निर्देश हैं वहीं लगातार अवैध शराब जब्ती की कार्रवाई की जा रही है इसी क्रम में थाना देहात ब्यावरा  की पुलिस टीम ने भी आरोपियो के विरुद्ध कार्रवाई करते हुए अवैध शराब जप्त की है। 
                       अनुविभागीय पुलिस अधिकारी अनुभाग ब्यावरा  श्रीमती किरण अहिरवार  के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी देहात ब्यावरा  एवं उनकी टीम को मुखबिर की सूचना पर दिनांक 14/10/2021 को मोया जोड ब्यावरा रवाना किया गया थोड़ी देर तक घटना स्थल पर इंतजार करने के पश्चात मुखबिर के बताये हुलिये का व्यक्ति मोटर सायकल पर प्लास्टिक की नीले रंग की दो केन रस्सी से बाधंकर मोटर सायकल के पीछे दोनो तरफ लटकाकर आता दिखा। जिसे हमराह फोर्स की मदद से घेराबंदी कर पकडा। नाम पता पूछा तो उसने अपना नाम भुरिया पिता कालुराम कुशवाह उम्र 22 साल नि. ग्राम बखतपुरा ब्यावरा का होना बताया जिसकी मोटर सायकल काले नीले रंग की एचएफ डीलक्स जिसका नम्बर एमपी 39 एमएस 8144 था दोनो तरफ रस्सी से बंधी नीले रंग की चालीस-चालीस लीटर क्षमता वाली दो केनों को हमराह फोर्स की मदद से उतराकर केनों के ढक्कन खोलकर हमराह पंचो व हमराह फोर्स को चखाया सुंघाया व स्वयं चखा सुंघा तो हाथ भटटी की कच्ची शराब होना पाया। दोनो केनो की कुल शराब 80 लीटर कीमती 4800/ रू. की होना पाया। उक्त  आरोपी से जब्तशुदा कच्ची शराब की कीमत करीब 4800 रूपए आंकी गई है। तथा वाहन की कीमत 50000 रुपये होना पाई गई है।  आरोपी से उक्त शराब रखने एवं ले जाने का लाइसेंस मांगने पर नहीं होना बताया गया । आरोपी का कृत्य आबकारी अधिनियम की धाराओं के तहत दंडनीय पाया जाने से आरोपी के विरुद्ध थाना देहात ब्यावरा में अपराध क्रमांक 347/2021  धारा 34(2) आबकारी अधिनियम के तहत पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया है।  
              अवैध शराब के विरुद्ध जारी कार्यवाही के चलते आरोपियों की धरपकड़ में थाना प्रभारी 
उप.निरी.आदित्य सोनी, सउनि बनेसिंह मण्डोरिया, प्रआर. 135 युगल किशोर, आर. 136 राजवहादुर एवं सै. 256 बनेसिहं  का सराहनीय योगदान रहा।