राजगढ़

समय सीमा बैठक आयोजित, साख सहकारी समितियां खाद-बीज का  तत्काल उठाव कर एवं करे वितरण सुनिष्चित : -कलेक्टर श्री दिक्षित।

राजगढ़

 

 

राजगढ़ 18 अक्टूबर, 2021

साख सहकारी समितियां उबल लॉक में रखे उर्वरक का तत्काल उठाव करें और उसका वितरण सुनिष्चित करें। ताकि किसान भाईयों को अनावष्यक परेशान नही होना पड़े। संबंधित विभागीय अधिकारी एवं समितियां इसे सर्वोच्च प्राथमिकता दें। यह निर्देश समय-सीमा बैठक में कलेक्टर श्री हर्ष दीक्षित द्वारा जिले में खाद-बीज की उपलब्धता, उठाव एवं वितरण की अद्यतन स्थिति की समीक्षा के दौरान दिए गए।

इसके साथ ही उन्होंने जिले के समस्त अनुविभागीय अधिकारी राजस्व एवं तहसीलदारों को निर्देषित किया कि वे अपने-अपने क्षेत्रांतर्गत सहकारी समितियों का अवलोकन करने, उर्वरकों के उठाव की जानकारी लें तथा किसान बंधुओं खाद-बीज का उठाव करने के लिए अवगत कराएं और उन्हें प्रेरित करें ताकि जरूरत के समय उन्हे यहां-वहां भटकना नही पड़े।

कोविड वैक्सिनेषन की समीक्षा के दौरान उन्होंने जिला टीकाकरण अधिकारी तथा मुख्य चिकित्सा एवं जिला स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देषित किया कि वे जिले में कोविड वैक्सीन के द्वितीय डोज के शेष रहे लक्षित हितग्राहियों के टीकाकरण करने योजना बनाएं। इस हेतु बड़े क्षेत्रों को चिन्हित करें और लक्षित हितग्राहियों के टीकाकरण की शतप्रतिशत उपलब्धि सुनिष्चित कराएं। इस अवसर पर उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को विभिन्न स्त्रोंतो से प्राप्त ऑक्सीजन कंसनट्रेटर, पल्सो ऑक्सीमीटर, थर्मल स्केनर आदि सामग्रियों और उपकरणों का भौतिक सत्यापन कर प्रतिवेदन प्रस्तुत करने के निर्देष भी समीक्षा के दौरान दिए। 

उन्होंने जिले में अति एवं गंभीर कुपोषित बच्चे, उनके उपचार एवं स्वास्थ्य सुधार हेतु कियान्वित गतिविधियों की समीक्षा के दौरान परियोजना अधिकारियों, सुपरवाईजरों एवं आंगनवाडी कार्यकताओं को निर्देषित किया कि वे प्रयासों को परिणाम मूलक बनाएं। कुपोषित बच्चों का समुचित उपचार हो और उनके स्वास्थ्य में सुधार हो, के उद्देष्य से एन.आर.सी. की पूरी क्षमता का उपयोग सुनिष्चित करें। कुपोषित बच्चा एन.आर.सी. में निर्धारित अवधि तक अपना उपचार कराएं, यह सर्व संबंधित सुनिष्चित करें। साथ ही उपचार उपरांत उनकी सत्त मॉनिटरिंग की जाए ताकि वह दुबारा कुपोषण की स्थिति में नही आए। 

उन्होंने जल जीवन मिशन अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में घर-घर नल जल प्रदाय योजनान्तर्गत मोहनपुरा एवं कुण्डालिया परियोजना द्वारा पाईप लाईन बिछाएं जाने के कार्यो की प्रगति की समीक्षा की तीव्र गति से कार्य करने निर्देशित किया। इस दौरान उन्होंने निर्देशित किया कि मार्ग खोदने और पेयजल प्रदाय पाईप लाईन बिछाने के तत्काल बाद संबंधित मार्गो की मरम्मत कराना संबंधित एजेन्सी सुनिष्चित करें। अत्याधिक आवागमन वाले मार्गो के मरम्मत कार्यो में लापरवाई और ढि़लाई नही हो, वे यह सुनिष्चित करें। 

बैठक में उन्होंने जिले में सिचाई संसाधनों की संगणना एवं आबादी सर्वे के कार्यो को समय-सीमा में पूरा करने संबंधितों को निर्देशित किया। इस अवसर पर उन्होंने सी.एस.आर. मद अंतर्गत स्वास्थ्य एवं महिला बाल विकास द्वारा कराए जाने वाले कार्यो, आंगनवाड़ी केन्द्र भवनों के निर्माण कार्यो की अद्यतन स्थिति, राजस्व पखवाड़ा (एक नवंबर से 15 नवंबर, 2021) की तैयारियों और प्रगति, रक्तदान शिविरों के आयोजन, सी.एम. हेल्प लाईन एवं सी.एम. मॉनिट के लंबित आवेदनों तथा आगामी 10 दिवसों में आयोजित होने वाले कार्यो एवं कार्यक्रमों की बिन्दुवार समीक्षा की तथा संबंधित विभागीय अधिकारियों को आवष्यक दिशा-निर्देश दिए। 

इस अवसर पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत सुश्री प्रीति यादव, अपर कलेक्टर श्री कमलचन्द्र नागर सहित जिल के समस्त विभागों के कार्यालय प्रमुख मौजूद रहे।