बिलासपुर

कोरबा / युवकों ने की छेड़छाड़ तो नशे में महिलाओं ने रची अपहरण और दुष्कर्म की झूठी कहानी

बिलासपुर

कोरबा. छत्तीसगढ़ के कोरबा में महिलाओंं के अपहरण और उनसे दुष्कर्म करने की कहानी झूठी निकली। शराब के नशे में धुत महिलाओं से छेड़छाड़ करने पर उन्होंने 28 नवंबर की देर रात मानिकपुर पुलिस चौकी में एफआईआर दर्ज कराई थी। पुलिस ने इस मामले में पांच आराेपी युवकों को संदेह के आधार पर गिरफ्तार कर लिया। हालांकि पूछताछ और जांच में पता चला कि युवकों ने छेड़छाड़ जरूर की थी, लेकिन अपहरण और दुष्कर्म की झूठी कहानी महिलाओं ने शराब के नशे में दर्ज कराई थी। 

संदेह के आधार पर आरोपी पकड़े गए तो खुला मामला

दरअसल, 28 नवंबर की देर रात एक महिला मानिकपुर पुलिस चौकी पहुंची। वहां उसने पुलिस को बताया कि रात 8 बजे मानिकपुर पुलिया के पास बाइक सवार दो युवकों ने उनका रास्ता रोक लिया और अपहरण कर डंपिंग जंगल की ओर ले गए। वहां पर दोनों के साथ दुष्कर्म का प्रयास किया। हालांकि दोनों महिलाएं किसी तरह उनके चंगुल से निकलकर अलग-अलग दिशा में भाग निकलीं। अब वह चौकी में आकर शिकायत दर्ज करा रही है। पुलिस की जांच में उस दौरान पांचों युवकों के वहां होने की बात सामने आई।

संदेह के अाधार पर पुलिस ने मानिकपुर क्षेत्र के आकाश यादव से पूछताछ की, तो उसके अन्य साथियों के भी नाम सामने आए गए। पता चला कि उस रात विवेक चौहान, साहिल कुजूर, अनिमेष निराला और अरुण एक्का साथ में ही घूम रहे थे। इस पर पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया और पूछताछ की। आरोपियों ने अपहरण की बात से इनकार कर दिया। हालांकि कमंेट करने और छेड़छाड़ करने की बात स्वीकार कर ली। पुलिस ने सबूत के आधार पर आरोपी युवकों को गिरफ्तार कर लिया है। 

नशे में महिला ने लिखाई थी गलत रिपोर्ट: सीएसपी देव

सीएसपी राहुल देव शर्मा ने बताया कि प्रकरण की विवेचना में यह बात सामने आई कि प्राथी महिला ने जिस समय चौकी में रिपोर्ट लिखाई वह नशे में थी। अपहृत बताई गई महिला को जब बरामद किया तब भी वह नशे में थी। इस तरह नशे में होने के कारण छेड़छाड़ और खींचतान के बाद अपहरण की गलत रिपोर्ट लिखाई गई। मामले में छेड़छाड़ की घटना करने वाले आरोपी 5 युवकों को गिरफ्तार कर लिया गया है।