none

दिल्ली चुनाव / चुनाव आयोग ने कहा- देर रात तक डेटा इकट्ठा करते रहे, 62.59% वोटिंग हुई; आप ने आंकड़े न जारी करने पर उठाया था सवाल

none

नई दिल्ली. चुनाव आयोग ने दिल्ली में वोटिंग खत्म होने के करीब 24 घंटे बाद रविवार शाम 7 बजे मतदान के आंकड़े जारी किए। चुनाव आयोग ने कहा कि 8 फरवरी को दिल्ली में 62.59% वोटिंग हुई। आयोग ने कहा कि हम देर रात तक मतदान का डेटा इकट्ठा कर रहे थे। चुनाव आयोग की प्रेस कॉन्फ्रेंस से पहले आम आदमी पार्टी ने मतदान के आंकड़े न जारी होने पर हैरानी जताई थी। आप ने आरोप लगाया था, "आयोग द्वारा आंकड़े न जारी करना आश्चर्यजनक है। अंदर ही अंदर खेल चल रहा है।'

दिल्ली के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी (सीईओ) रणवीर सिंह ने कहा- शनिवार को दिल्ली में 62.59% मतदान हुआ। यह लोकसभा चुनाव में हुए मतदान से 2% ज्यादा है। हालांकि, इस बार 2015 के विधानसभा चुनाव की तुलना में करीब 5% कम वोटिंग हुई। बल्लीमारान विधानसभा में सबसे ज्यादा 71.6%, जबकि दिल्ली केंट में सबसे कम 45.4% मतदान हुआ। आंकड़े जारी करने में देरी के सवाल पर उन्होंने कहा कि मतदान का डेटा रिटर्निंग ऑफिसर दर्ज कराते हैं। रात भर वे व्यस्त रहे और इसके बाद सुरक्षा के इंतजामों में जुट गए। डेटा एंट्री करने में थोड़ा ज्यादा वक्त लगा, लेकिन यह बेहद जरूरी था ताकि आंकड़े सटीक रहें।

आयोग ने सुरक्षा खामियों पर संज्ञान लिया

मतदान के दौरान सुरक्षा खामियों के मुद्दे पर सिंह ने कहा- कुछ घटनाएं हुई हैं, जिनसे चुनाव आयोग को महसूस हुआ कि पुलिस प्रशासन को ज्यादा मुस्तैद रहना चाहिए था। इसीलिए, चुनाव आयोग ने इस पर संज्ञान लिया है।

मतगणना के लिए 21 सेंटर बनाए

सोमवार को मतगणना के इंतजामों की जानकारी देते हुए रणवीर सिंह ने कहा- 11 फरवरी को सुबह 8 बजे वोटों की गिनती शुरू होगी। हमने काउंटिंग के लिए 21 सेंटर बनाए हैं। हर विधानसभा के वोटों की गिनती अलग हॉल में की जाएगी।

आप ने ईवीएम की सुरक्षा को लेकर चिंता जाहिर की थी

मतदान के बाद आप ने एक बैठक की थी। इसमें ईवीएम की सुरक्षा को लेकर चिंता जाहिर की गई थी। आप सांसद संजय सिंह ने रविवार को कहा था- 70 साल के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ होगा कि चुनाव आयोग ये बताने को तैयार नहीं कि कितने प्रतिशत मतदान हुआ। इसका मतलब कहीं कुछ दाल में काला है, कोई खेल चल रहा है अंदर ही अंदर। इससे पहले उन्होंने एक वीडियो पोस्ट करके ईवीएम से छेड़छाड़ की आशंका जताई थी।

भाजपा ने कहा था- एग्जिट पोल के नतीजे सटीक नहीं

वोटिंग के बाद एग्जिट पोल के नतीजे आए थे। इन एग्जिट पोल में दिल्ली में आप को स्पष्ट बहुमत का अनुमान जाहिर किया गया था। इसके बाद देर रात भाजपा मुख्यालय में गृहमंत्री अमित शाह ने बड़े नेताओं के साथ बैठक की। भाजपा की तरफ से कहा गया कि एग्जिट पोल सटीक आंकड़े नहीं दिखाते और सोमवार को नतीजे आने तक इंतजार किया जाना चाहिए।

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने आप के जीत के दावों को नकारते हुए कहा कि एग्जिट पोल्स गलत हो सकते हैं। इसलिए भाजपा एग्जेक्ट पोल्स (सटीक नतीजों) का इंतजार करेगी। उन्होंने जोर देते हुए कहा, “दिल्ली चुनाव भाजपा ही जीतेगी और एग्जिट पोल्स और अंतिम नतीजों में बड़ा अंतर होगा। लोकसभा चुनाव में भी एग्जिट पोल्स गलत साबित हुए थे।”